Powered by Blogger.

Search This Blog

Blog Archive

PageNavi Results Number

Featured Posts

PageNavi Results No.

Widget Random Post No.

Popular

Thursday, 9 May 2019

क्या खाने से यौन शक्ति बढ़ती है?

  Dilip Yadav       Thursday, 9 May 2019
1. अश्वगंधा यौन शक्ति बढ़ाने के लिए –
अश्वगंधा यौन समस्याओं का इलाज करने के लिए एक महान जड़ी बूटी है। यह आपके तनाव के स्तर को भी नियंत्रित करता है और अपने तंत्रिका तंत्र को सुधारता है और अपने तंत्रिका तंत्र के पूरे कामकाज को बेहतर यौन जीवन प्रदान करता है। अश्वगंधा एक कामोत्तेजक है। इसका अर्क पुरुषों द्वारा उपयोग किया जाता है, जो आपके शरीर में नाइट्रिक ऑक्साइड उत्पादन को उत्तेजित करने की क्षमता रखता है। नतीजतन, आपके रक्त वाहिकाओं, जो आपके जननांगों को खून देते हैं, फैली हुई होती हैं, जिससे आप अपनी यौन इच्छा को पूरा करते हैं।
अगर आप हर दिन लगभग दो ग्राम अश्वगंधापाउडर खाते हैं, तो आपको अच्छे परिणाम मिलेंगे। हालांकि, स्पष्ट परिणाम आने से पहले थोड़ा समय लग सकता है इस प्रकार, अश्वगंधा के कैप्सूल या टैबलेट लेते समय, सुनिश्चित करें कि आप सेनोलिड्स के कंसंट्रेशन की जांच करते हैं। यदि कंसंट्रेशन अधिक है, तो आपको कम संख्या में कैप्सूल या टैबलेट लेने की आवश्यकता होगी। यदि आप गर्भवती हैं, तो कृपया इस दवा को लेने से बचें। यदि आप उच्च बीपी के रोगी हैं, तो आप जड़ी बूटी या दवा लेना शुरू करेंनें से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करना ना भूले
हालांकि दवा हर्बल है, फिर भी आपको यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि यह दवा आपकी स्थिति के लिए वास्तव में सुरक्षित है या नहीं|
2. शतावरी बांझपन के इलाज के लिए –
शतावरी हमेशा बांझपन के इलाज के रूप में लोकप्रिय रहा है यह वास्तव में आपके शुक्राणु उत्पादन को स्वाभाविक रूप से बढ़ा सकता है आपमें न केवल शुक्राणुओं की अधिक मात्रा होती है बल्कि आपके वीर्य में बेहतर गुणवत्ता भी होती है। शतावरी एक कामोत्तेजक है। यह ज्यादातर महिलाओं द्वारा यौन शक्ति बढ़ाने के लिए उपयोग की जाने वाली जड़ीबूटी होती है शतावरी में आपकी ऊर्जा के स्तर को बढ़ाने के दौरान उत्तेजक और शांत होने की संपत्तियां हैं शतावरी महिला हार्मोन के स्तर को विनियमित करने के लिए जाना जाता है। इसलिए, आपके प्रजनन प्रणाली के कार्यों पर इसका लाभकारी प्रभाव है। यद्यपि शतावरी को महिलाओं द्वारा उपभोग करने के लिए दिया जाता है, फिर भी पुरुषों में सेक्स ड्राइव को बढ़ाने में भी यह महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।
यौन शक्ति बढ़ाने के लिए शतावरी
शतावरी का कई सालों तक यौन क्षमता और जीवन शक्ति बढ़ाने के लिए उपयोग किया गया है। यदि कोई व्यक्ति इसे नियमित आधार पर लेता है, तो वह लंबे समय तक स्तंभन के साथ ही सेक्स के उत्तेजना के साथ बेहतर परिणाम प्राप्त कर सकता है। अब तक, कई पुरुषों ने पहले से ही विविध यौन समस्याओं और डिसफंक्शन के सिकार होने की रिपोर्ट दी है, शोधकर्ता भी इन दोषों को स्थायी रूप से दूर करने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने पाया है कि शतावरी उन स्तंभन दोष के सिकार लोगो को बहुत ही कम समय में सकारात्मक रूप से पोजिटिव रिजल्ट देता हैं।
नपुंसकता पुरुषों के लिए सबसे बड़ा मुद्दा है, लेकिन इस चुनौती को दूर करने के लिए शतावरी को नियमित रूप से ले कर ठीक किया जा सकता है। यह आपको सार्थक आहार और अच्छे सेक्स जीवन को बनाए रखने में मदद कर सकता है, इसलिए इसमें कोई संदेह नहीं है कि आपको अपने रोज़ाना आहार में शतावरी को शामिल करने की आवश्यकता है। यह आयुर्वेदिक दवा एक के उपचार की शक्ति के साथ-साथ मन और स्वास्थ्य की सकारात्मकता को बढ़ा सकती है, जिसे आमतौर पर सत्व (Sattva) कहा जाता है। जब यह जड़ी बूटी स्वभाव और भौतिक क्षेत्र में परिवर्तन लाती है, तो एक व्यक्ति अपने साथी के साथ खुश और प्यार भरे लम्हों का आनंद ले पाएगा।
3. कौंच का इस्तेमाल दूर करे शीघ्रपतन –
कोंच एक उत्कृष्ट जड़ी बूटी है जिसका इस्तेमाल पहले ही से शीघ्रपतन (premature ejaculation) के इलाज में किया जाता है। कोंच का उपभोग, या कोंच युक्त हर्बल दवाइयां आपके वीर्य की चिपचिपाहट में सुधार के लिए बेहद मदद कर सकती हैं। इससे आपके शुक्राणु मजबूत होते हैं और लंबे समय तक जीवित रह सकते हैं। कोंच को उन पुरुषों को आदर्श रूप से दीया जाता है जिनके वीर्य में पानी और पतलापान अधिक होता है या उन पुरुष को दिया जाता है जो समय से पहले स्खलन का सामना करते हैं, जिससे वो अपने सहयोगियों को संतुष्ट नहीं कर पाते हैं।
कोंच को पहले से ही एक कामोद्दीपक और यौन शक्ति बढ़ाने के लिए जाना गया है और यह टेस्टोस्टेरोन की एक उच्च मात्रा को रिलीज करता है, जो यौन स्वास्थ्य सही रखने के लिए आवश्यक है। यह मांसपेशियों में जमा प्रोटीन के अतिरिक्त भाग को पुनर्स्थापित करके मांसपेशियों को मजबूत करता है। यह पुरुषों में कामेच्छा को बढ़ाकर यौन उत्थान को बेहतर बनाने में मदद करता है, शीघ्रपतन और स्तंभन में कमी होने में सुधार करता है, और नपुंसकता की संभावना कम करता है। यह जड़ी बूटी पुरुष अंग की मांसपेशियों को टोनिंग और सहनशक्ति में वृद्धि करके यौन स्वास्थ्य में सुधार कर सकती है। इससे मानसिक तनाव कम हो जाता है जिससे यह यौन स्वास्थ्य और जीवन साथी के साथ जीवन में भी महत्वपूर्ण हो।
4. तालमखाना है यौन शक्ति बढ़ाने के लिए –
तालमखाना वीर्य विसंगतियों के उपचार के लिए इस्तेमाल एक प्रसिद्ध जड़ी बूटी है। यदि आप अपने शुक्राणु की गुणवत्ता से संबंधित समस्याओं का सामना कर रहे हैं, तो तालमखाना आपका उत्तर है। यदि आप समय से पहले स्खलन की समस्याओं का सामना कर रहे हैं तो तालमखाना आपका उत्तर है। तालमखाना आपके रक्त के संचरण को अपने जननांगों में सुधार करने के लिए जाना जाता है। उचित रक्त परिसंचरण का मतलब बेहतर सेक्स प्रदर्शन है इस प्रकार, आप एक मजबूत यौन शक्ति प्राप्त करेते है तालमखाना यौन शक्ति बढ़ाने के लिए घरलू उपाय के रूप में जाना जाता है।
जब प्रजनन क्षमता के बारे में बात करना शुरू हो जाता है, तो स्वाभाविक रूप से हम महिलाओं को पहली बार में गलत मानते हैं। लेकिन यह अब एक मिथक है केवल महिलाओं को इस मुद्दे के लिए हमेशा ज़िम्मेदार नहीं माना जा सकता है, कभी-कभी पुरुष इस समस्या के लिए पूरी तरह जिम्मेदार होते हैं। कभी-कभी शुक्राणुओं की संख्या संतोषजनक नहीं होती है जो प्रजनन क्षमता के लिए आवश्यक होती है। शुक्राणुओं की संख्या में वृद्धि करने के लिए, तालमखाना से अच्छा कोई बेहतर विकल्प नहीं है। यह शुक्राणु को मोटा बनाने में मदद करता है जो यौन इच्छाओं की अवधारणा और बढ़ावा देने के लिए अच्छा माना जाता है।
5. शिलाजीत मर्दाना ताकत बढ़ाने के लिए –
शिलाजीत स्तंभन दोष के रोगियों के इलाज के लिए एक बढ़िया जड़ी बूटी है। यह वास्तव में प्राकृतिक एजेंटों में से एक है, जो आपके लिंग के रक्त के संचलन को बेहतर बनाने में मदद करता है। नतीजतन, स्तंभन दोष जैसी समस्याओं वाले पुरुष बेहतर हो जाते हैं या पूरी तरह से ठीक हो जाते हैं शिलाजीत पुरुषों को बिस्तरों में हमेशा की तुलना में लंबे समय तक बने रहने में मदद करने में सहायता करता है, जिससे उन्हें अपने भागीदारों से अधिक आनंद मिलता है। शिलाजीत हिमालय पर्वतों में पाए जाते हैं, जिससे उन्हें सबसे महंगी जड़ी-बूटी-खनिज दवाएं बनायी जाती हैं।
इसमें मूल्यवान चिकित्सीय पौधों के जीवाश्म रूप शामिल हैं। इसमें कई प्रकार के खनिज होते हैं जो कि कार्बनिक यौगिकों होते है जिन्हें फुल्विक एसिड कहते हैं। कहा जाता है कि फुल्विक एसिड स्तंभन में योगदान देता है। जानवरों पर किए गए शोध में टेस्टोस्टेरोन, शुक्राणुजनन, शुक्राणु गतिशीलता, पुरुषों में शुक्राणुओं की संख्या बढ़ने में इसको सफल माना गया है। दूसरी तरफ, यह महिलाओं में ओवोजेनेसिस में वृद्धि करता है । इसके अलावा, यह तनाव को दूर करने के कम भी आता है यह एक कामोद्दीपक के लिए बेहद उपयोगी होता है।
शिलाजीत चार रूपों में उपलब्ध है – लाल, काले, नीले और पीले उनमें से, काली रूप सबसे प्रभावी रूपों में पाया जाता है।शिलाजीत का उपयोग यौन शक्ति बढ़ाने के लिए किया जाता रहा है शिलाजीत की एक बड़ी मात्रा का एक ही बार उपभोग न करें अपने खुराक को धीरे-धीरे बढ़ाएं, यह अनुशंसा की जाती है कि आपको शुरुआत में प्रति दिन 300 मिलीग्राम से 500 मिलीग्राम तक का उपभोग करना चाहिए। यदि आपको किसी भी नकारात्मक प्रभाव का अनुभव नहीं होता है, तो आप लगभग सौ मिलीग्राम तक खुराक बढ़ा सकते हैं।(यौन शक्ति बढ़ाने के लिए प्राक्रतिक जड़ी बूटी - Increase Sexual Strength in hindi)
इसे भी आजमाएँ:
1.आंवला- 2 चम्मच आंवला के रस में एक छोटा चम्मच सूखे आंवले का चूर्ण तथा एक चम्मच शुद्ध शहद मिलाकर दिन में दो बार सेवन करना चाहिए। इसके इस्तेमाल से सेक्स शक्ति धीरे-धीरे बढ़ती चली जाएगी। इस प्रकार की परेशानी में आंवला बहुत फायदेमंद होता है। अत: प्रतिदिन रात्रि में गिलास में थोड़ा सा हुआ सुखा आंवले का चूर्ण लें और उसमें पानी भर दें। सुबह उठने के बाद इस पानी में हल्दी मिलाएं एवं छानकर पीएं। आंवले के चूर्ण में मिश्री पीसकर मिलाएं। इसके बाद प्रतिदिन रात को सोने से पहले करीब एक चम्मच इस मिश्रित चूर्ण का सेवन करें। इसके बाद थोड़ा सा पानी पीएं। जिन लोगों को अत्याधिक स्वप्नदोष होने की समस्या है, वे प्रतिदिन आंवले का मुरब्बा खाएं।
2. सेब- एक सेब में जितनी हो सके उतनी लौंग लगा दीजिए। इसी तरह का एक अच्छा सा बड़े आकार का नींबू ले लीजिए। इसमें जितनी ज्यादा से ज्यादा हो सके, लौंग लगाकर दोनों फलों को एक सप्ताह तक किसी बर्तन में ढककर रख दीजिए। एक सप्ताह बाद दोनों फलों में से लौंग निकालकर अलग-अलग बोतल में भरकर रख लें। पहले दिन नींबू वाले दो लौंग को बारीक कूटकर बकरी के दूध के साथ सेवन करें। इस तरह से बदल-बदलकर 40दिनों तक 2-2 लौंग खाएं। यह एक तरह से सेक्स क्षमता को बढ़ाने वाला एक बहुत ही सरल उपाय है।
3. अश्वगंधा- अश्वगंधा का चूर्ण, असगंध तथा बिदारीकंद को 100-100 ग्राम की मात्रा में लेकर बारीक चूर्ण बना लें। चूर्ण को आधा चम्मच मात्रा में दूध के साथ सुबह और शाम लेना चाहिए। यह मिश्रण वीर्य को ताकतवर बनाकर शीघ्रपतन की समस्या से छुटकारा दिलाता है।
4. सोंठ- 4 ग्राम सोंठ, 4 ग्राम सेमल का गोंद, 2 ग्राम अकरकरा, 28 ग्राम पिप्पली तथा 30 ग्राम काले तिल को एकसाथ मिलाकर तथा कूटकर बारीक चूर्ण बना लें। रात को सोते समय आधा चम्मच चूर्ण लेकर ऊपर से एक गिलास गर्म दूध पी लें। यह रामबाण औषधि शरीर की कमजोरी को दूर करती है और सेक्स शक्ति को बढ़ाती है।
5. अजवायन- 100 ग्राम अजवायन को सफेद प्याज के रस में भिगोकर सुखा लें। सूखने के बाद उसे फिर से प्याज के रस में गीला करके सुखा लें। इस तरह से तीन बार करें। उसके बाद इसे कूटकर किसी बोतल में भरकर रख लें। आधा चम्मच इस चूर्ण को एक चम्मच पिसी हुई मिश्री के साथ मिलाकर खा जाएं। फिर ऊपर से हल्का गर्म दूध पी लें। करीब-करीब एक महीने तक इस मिश्रण का उपयोग करें। इस दौरान संभोग बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए। यह सेक्स क्षमता को बढ़ाने वाला सबसे अच्छा उपाय है
6. छुहारे- चार-पांच छुहारे, दो-तीन काजू और दो बादाम को 300 ग्राम दूध में खूब अच्छी तरह से उबालकर तथा पकाकर दो चम्मच मिश्री मिलाकर रोजाना रात को सोते समय लेना चाहिए। इससे यौन इच्छा और काम करने की शक्ति बढ़ती है।
7. गाजर- 1 किलो गाजर, चीनी 400 ग्राम, खोआ 250 ग्राम, दूध 500 ग्राम, कद्यूकस किया हुआ नारियल 10 ग्राम, किशमिश 10 ग्राम, काजू बारीक कटे हुए 10-15 पीस, एक चांदी का वर्क और 4चम्मच देशी घी ले लें। गाजर को कद्दूकस करके कडा़ही में डालकर पकाएं। पानी के सूख जाने पर इसमें दूध, खोआ और चीनी डाल दें तथा इसे चम्मच से चलाते रहें। जब यह सारा मिश्रण गाढ़ा होने को हो तो इसमें नारियल, किशमिश, बादाम और काजू डाल दें। जब यह गाढ़ा हो जाए तो थाली में देशी घी लगाकर हलवे को थाली पर निकालें और ऊपर से चांदी का वर्क लगा दें। इस हलवे को चार-चार चम्मच सुबह और शाम खाकर ऊपर से दूध पीना चाहिए। यह वीर्यशक्ति बढ़ाकर शरीर को मजबूत रखता है। इससे सेक्स शक्ति भी बढ़ती है।
8. इमली- आधा किलो इमली के बीज लेकर उसके दो हिस्से कर दें। इन बीजों को तीन दिनों तक पानी में भिगोकर रख लें। इसके बाद छिलकों को उतारकर बाहर फेंक दें और सफेद बीजों को खरल में डालकर पीसें। फिर इसमें आधा किलो पिसी मिश्री मिलाकर कांच के खुले मुंह वाली एक चौड़ी बोतल में रख लें। आधा चम्मच सुबह और शाम के समय में दूध के साथ लें। इस तरह से यह उपाय वीर्य के जल्दी गिरने के रोग तथा संभोग करने की ताकत में बढ़ोतरी करता है।
9. कौंच का बीज- 100 ग्राम कौंच के बीज और 100 ग्राम तालमखाना को कूट-पीसकर चूर्ण बना लें फिर इसमें 200 ग्राम मिश्री पीसकर मिला लें। हल्के गर्म दूध में आधा चम्मच चूर्ण मिलाकर रोजाना इसको पीना चाहिए। इसको पीने से वीर्य गाढ़ा हो जाता है और नामर्दी दूर होती है।
10. चोबचीनी- 100 ग्राम तालमखाने के बीज, 100 ग्राम चोबचीनी, 100 ग्राम ढाक का गोंद, 100 ग्राम मोचरस तथा 250 ग्राम मिश्री को कूट-पीसकर चूर्ण बना लें। रोजाना सुबह के समय एक चम्मच चूर्ण में 4 चम्मच मलाई मिलाकर खाएं। यह मिश्रण यौन रुपी कमजोरी, नामर्दी तथा वीर्य का जल्दी गिरना जैसे रोग को खत्म कर देता है।
11. प्याज- आधा चम्मच सफेद प्याज का रस, आधा चम्मच शहद और आधा चम्मच मिश्री के चूर्ण को मिलाकर सुबह और शाम सेवन करें। यह मिश्रण वीर्यपतन को दूर करने के लिए काफी उपयोगी रहता है।सफेद प्याज के रस को अदरक के रस के साथ मिलाकर शुद्ध शहद तथा देशी घी पांच-पांच ग्राम की मात्रा में लेकर एक साथ मिलाकर सुबह नियम से एक माह तक सेवन करें और लाभ देखें इससे यौन क्षमता में अभूतपूर्व वृद्धि देखी जाती है।
12. ढाक – ढाक के 100 ग्राम गोंद को तवे पर भून लें। फिर 100 ग्राम तालमखानों को घी के साथ भूनें। उसके बाद दोनों को बारीक काटकर आधा चम्मच सुबह और शाम को दूध के साथ खाना खाने के दो-तीन घंटे पहले ही इसका सेवन करें। इसके कुछ ही दिनों के बाद वीर्य का पतलापन दूर होता है तथा सेक्स क्षमता में बहुत अधिक रुप से वृद्धि होती है।
13. जायफल – 15 ग्राम जायफल, 20 ग्राम हिंगुल भस्म, 5 ग्राम अकरकरा और 10 ग्राम केसर को मिलाकर बारीक पीस लें। इसके बाद इसमें शहद मिलाकर इमामदस्ते में घोटें। उसके बाद चने के बराबर छोटी-छोटी गोलियां बना लें। रोजाना रात को सोने से 2 पहले 2 गोलियां गाढ़े दूध के साथ सेवन करें। इससे शिश्न (लिंग) का ढ़ीलापन दूर होता है तथा नामर्दी दूर हो जाती है।
14. इलायची – इलायची के दानों का चूर्ण 2 ग्राम, जावित्री का चूर्ण 1 ग्राम, बादाम के 5 पीस और मिश्री 10 ग्राम ले लें। बादाम को रात के समय पानी में भिगोकर रख दें। सुबह के वक्त उसे पीसकर पेस्ट की तरह बना लें। फिर उसमें अन्य पदार्थ मिलाकर तथा दो चम्मच मक्खन मिलाकर विस्तार रुप से रोजाना सुबह के वक्त इसको सेवन करें। यह वीर्य को बढ़ाता है तथा शरीर में ताकत लाकर सेक्स शक्ति को बढ़ाता है।
15. तुलसी- 15 ग्राम तुलसी के बीज और 30 ग्राम सफेद मुसली लेकर चूर्ण बनाएं, फिर उसमें 60 ग्राम मिश्री पीसकर मिला दें और शीशी में भरकर रख दें। 5 ग्राम की मात्रा में यह चूर्ण सुबह-शाम गाय के दूध के साथ सेवन करें इससे यौन दुर्बलता दूर होती है।
16. लहसुन- 200 ग्राम लहसुन पीसकर उसमें 60 मिली शहद मिलाकर एक साफ-सुथरी शीशी में भरकर ढक्कन लगाएं और किसी भी अनाज में 31 दिन के लिए रख दें। 31 दिनों के बाद 10 ग्राम की मात्रा में 40 दिनों तक इसको लें। इससे यौन शक्ति बढ़ती है।
17. हल्दी – वीर्य अधिक पतला होने पर 1 चम्मच शहद में एक चम्मच हल्दी पाउडर मिलाकर रोजाना सुबह के समय खाली पेट सेवन करना चाहिए। इसका विस्तृत रुप से इस्तेमाल करने से संभोग करने की शक्ति बढ़ जाती है।
18. उड़द की दाल – आधा चम्मच उड़द की दाल और कौंच की दो-तीन कोमल कली को बारीक पीसकर सुबह तथा शाम को लेना चाहिए। यह उपाय काफी फायदेमंद है। इस नुस्खे को रोजाना लेने से सेक्स करने की ताकत बढ़ जाती है।
19. शंखपुष्पी – शंखपुष्पी 100 ग्राम, ब्राह्नी 100 ग्राम, असंगध 50 ग्राम, तज 50 ग्राम, मुलहठी 50 ग्राम, शतावर 50 ग्राम, विधारा 50 ग्राम तथा शक्कर 450 ग्राम को बारीक कूट-पीसकर चूर्ण बनाकर एक-एक चम्मच की मात्रा में सुबह और शाम को लेना चाहिए। इस चूर्ण को तीन महीनों तक रोजाना सेवन करने से नाईट-फाल (स्वप्न दोष), वीर्य की कमजोरी तथा नामर्दी आदि रोग समाप्त होकर सेक्स शक्ति में ताकत आती है।
20. उंटगन के बीज – 6 ग्राम उंटगन के बीज, 6 ग्राम तालमखाना तथा 6 ग्राम गोखरू को समान मात्रा में लेकर आधा लीटर दूध में मिलाकर पकाएं। यह मिश्रण लगभग आधा रह जाने पर इसे उतारकर ठंडा हो जाने दें। इसे रोजाना 21 दिनों तक समय अनुसार लेते रहें। इससे नपुंसकता (नामर्दी) रोग दूर हो जाता है।
21. गोखरू – सूखा आंवला, गोखरू, कौंच के बीज, सफेद मूसली और गुडुची सत्व- इन पांचो पदार्थों को समान मात्रा में लेकर चूर्ण बना लें। एक चम्मच देशी घी और एक चम्मच मिश्री में एक चम्मच चूर्ण मिलाकर रात को सोते समय इस मिश्रण को लें। इसके बाद एक गिलास गर्म दूध पी लें। इस चूर्ण से सेक्स कार्य में अत्यंत शक्ति आती है।
22. बरगद – सूर्यास्त से पहले बरगद के पेड़ से उसके पत्ते तोड़कर उसमें से निकलने वाले दूध की 10-15 बूंदें बताशे पर रखकर खाएं। इसके प्रयोग से आपका वीर्य भी बनेगा और सेक्स शक्ति भी अधिक हो जाएगी।
23. पीपल – पीपल का फल और पीपल की कोमल जड़ को बराबर मात्रा में लेकर चटनी बना लें। इस 2 चम्मच चटनी को 100 मि.ली. दूध तथा 400 मि.ली. पानी में मिलाकर उसे लगभग चौथाई भाग होने तक पकाएं। फिर उसे छानकर आधा कप सुबह और शाम को पी लें। इसके इस्तेमाल करने से वीर्य में तथा सेक्स करने की ताकत में वृद्धि होती है।
24. त्रिफला – एक चम्मच त्रिफला के चूर्ण को रात को सोते समय 5 मुनक्कों के साथ लेना चाहिए तथा ऊपर से ठंडा पानी पिएं। यह चूर्ण पेट के सभी प्रकार के रोग, स्वप्नदोष तथा वीर्य का शीघ्र गिरना आदि रोगों को दूर करके शरीर को मजबूती प्रदान करता है।
25. सफेद मूसली – सालम मिश्री, तालमखाना, सफेद मूसली, कौंच के बीज, गोखरू तथा ईसबगोल- इन सबको समान मात्रा में मिलाकर बारीक चूर्ण बना लें। इस एक चम्मच चूर्ण में मिश्री मिलाकर सुबह-शाम दूध के साथ पीना चाहिए। यह वीर्य को ताकतवर बनाता है तथा सेक्स शक्ति में अधिकता लाता है।(यौन शक्ति बढ़ाने के कुछ सरल घरेलू उपाय | Sex Power Badhane Ke Upay)
●महिलाओं में कामेच्छा बढ़ाने के उपाय●
करें शतावरी का सेवन
शतावरी का उपयोग विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करने के लिए किया जाता है। यह महिलाओं के लिए एक शक्तिशाली टॉनिक माना जाता है। इसमें एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होता है, जो महिलाओं के अंगों को उत्तेजित करता है। यह कामेच्छा बढ़ाने के साथ ही बांझपन की समस्या को दूर करने का भी काम करता है। यदि आपको सेक्स करने की बिल्कुल भी इच्छा नहीं होती है तो शतावरी जड़ी-बूटी का उपयोग करें। इसमें फाइटोएस्ट्रोजन पाया जाता है जो हार्मोन को संतुलित बनाए रखता है और सेक्स करने की इच्छा को तीव्र करता है।
लहसुन खाएं
लहसुन खाने से भी महिलाओं में कामेच्छा तीव्र होती है। यह सबसे आसान घरेलू उपाय है। यह प्राकृतिक तरीके से खून को पतला करता है। उच्च रक्तचाप से बचाता है। लहसुन में एंटीकॉगुलेंट (anticoagulant ) गुण पाया जाता है, जो जननांगों में खून के प्रवाह को बढ़ाता है। महिलाओं को शाम होने से पहले लहसुन का सेवन कर लेना चाहिए ताकि वे रात को बिस्तर पर देर तक अपने पार्टनर का साथ दे सकें।
अश्वगंधा का सेवन
कई बार तनाव के कारण भी महिलाओं में कामेच्छा की कमी हो जाती है। इस स्थिति में सेक्स करने की शक्ति और इच्छा बढ़ाने के लिए अश्वगंधा काफी प्रभावी तरीके से काम करता है। अश्वगंधा कॉर्टिसोल (cortisol) नामक स्ट्रेस हार्मोन का कम करता है। महिलाओं में सेक्स करने की इच्छा को तीव्र करने में सहायक होता है। एक स्टडी में पाया गया है कि अश्वगंधा महिलाओं के शरीर में कुछ विशेष हार्मोन्स के स्राव को बढ़ाता है, जिसके कारण कामेच्छा स्वतः बढ़ जाती है।
पिएं अनार का जूस
इंटरनेशनल जर्नल में हाल ही में प्रकाशित एक स्टडी के मुताबिक, महिलाओं में सेक्स की इच्छा बढ़ाने का गुण अनार के रस में पाया जाता है। अनार के रस में एंटीऑक्सीडेंट मौजूद होता है जो उत्तेजना बढ़ाने में प्रभावी तरीके से काम करता है। इसमें पाया जाने वाला एंटीऑक्सीडेंट जननांगों और पूरे शरीर में खून के प्रवाह को बेहतर करता है। ऐसे में जिन महिलाओं को उत्तेजना नहीं होती है या सेक्स करने की इच्छा कम हो गई हो, उन्हें प्रतिदिन ताजे अनार का जूस पीना चाहिए।
सेब भी बढ़ाए कामेच्छा
चाहती हैं शादीशुदा जिंदगी हमेशा खुशहाल बनी रहे, तो सेब जरूर खाएं। महिलाओं में कामेच्छा बढ़ाने में भी मदद करता है। देर तक सेक्स का आनंद लेने में भी सहायक होता है। सेब में एंटीऑक्सीडेंट, फ्लेवोनॉएड पाया जाता है जो महिलाओं के प्राइवेट पार्ट्स में खून के प्रवाह को तेज करता है, जिससे ये अंग सेक्स के लिए प्राकृतिक तरीके से उत्तेजित होते हैं। इसके अलावा सेब खाने से सेक्स के दौरान दर्द भी नहीं होता है
logoblog

Thanks for reading क्या खाने से यौन शक्ति बढ़ती है?

Previous
« Prev Post

No comments:

Post a comment